Earth Day 2017

दिनांक 22-04-2017 को पृथ्वी दिवस के अवसर पर जिम्प पायनियर स्कूल ग्राम पीतांबरपुर ,आर्केडिया-ग्रांट ,देहरादून के कक्षा 1 से 12 तक के विध्यार्थियों ने विध्यालय में वृक्षारोपण कार्य किया | इस अवसर पर विध्यालय के प्रधानाचार्य श्री जगदीश पांडे ने विध्यार्थियों को प्रतिदिन कम से कम एक घंटे अपने घरों की बिजली को बंद कर पृथ्वी को होने वाले नुकसान को बचाने के लिए प्रेरित किया । उन्होने छात्र-छात्राओं को बताया कि धरती मां के समान है और इससे ही पेड़-पौधे जन्म लेते हैं। प्राणी इसकी गोद में पलते हैं। सभी को धरती की रक्षा करनी चाहिए। विद्यालय में कक्षा प्ले ग्रुप, नर्सरी, के0 जी0 के बच्चों में चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया । इस प्रतियोगिता में सेव अर्थ सेव लाइफ के माध्यम से धरती के सरंक्षण का संदेश दिया |

कक्षा 10 के निम्न छात्र-छात्राओं ने भी अपने-अपने विचार रखे – निशा ,कल्पना गौड़ ,कावेरी ने अपने विचारों में कहा कि पानी का इस्तेमाल कम करें और नल की लीकेज पर भी ध्यान दें| इससे पानी की बर्बादी को रोका जा सकता है| हेमलता ,अभिजीत,खुशी ने अपने विचारों में कहा कि अगर गंदगी फैलायेंगे तो पृथ्वी की सतह कमजोर होने का खतरा बना रहेगा, इसीलिए सफाई का विशेष ध्यान रखें| अपने गाँव से लेकर अपने कमरे तक को साफ़-सुथरा रखें, ताकि आप भी स्वस्थ रहें और आपकी धरती भी| सुमन,शुभम,राहुल नेगी ने अपने विचारों में कहा कि पोलिथीन एक ऐसी गंदगी है जो जलने के बाद भी हमारे वातावरण को हानि पहुंचाती है और न जलने पर सतह को, इसीलिए इसका प्रयोग करना बंद करें|

भारती,अलसिफा,खुशबू ने अपने विचारों में कहा कि धरती को बचाने, ऐसे ही संवार के रखने के लिए पेड़-पौधे लगाने ज़रूरी हैं, इसीलिए अपने घर से पौधे लगाने की शुरूआत करें| स्वच्छ हवा और वातावरण के लिए पेड़-पौधे लगाना ज़रूरी है| शिखा ,अभय,सिमरन ने अपने विचारों में कहा कि आप अगर हफ़्ते में एक दिन भी कार या बाइक न चला कर साइकिल चलायें तो आपकी हैल्थ भी ठीक रहेगी और प्रदूषण भी कम फैलेगा| इन गाड़ियों के प्रदूषण से ग्लोबल वार्मिंग बढ़ जाती है और इससे हमें ख़ासा नुकसान झेलना पड़ता है|

अंजली व सितारा ने अपने विचारों में कहा कि बिजली बनाने के लिए पानी का उपयोग किया जाता है, अगर हम सौर ऊर्जा का प्रयोग करें तो पानी का उपयोग कम होगा जिससे कि पानी बना रखेगा और पृथ्वी भी हरी-भरी रहेगी| उत्कर्ष व शीतल ने अपने विचारों में कहा कि आमतौर पर गली-गली, नुक्कड़-नुक्कड़ कूड़े के ढेर लगे रहते हैं और कुछ लोग उस गंदगी को जगह-जगह से इकट्ठा कर जला देते हैं जिससे हमारे वातावरण में वायु प्रदूषण फैलने का खतरा बढ़ जाता है| नैनी ने कहा कि पुराने Mobile phones को Recycle करें |

रत्न सिंह ने कहा कि बारिश का पानी नालियों में बह जाता है और उसकी हम परवाह नहीं करते, अगर बारिश के पानी को बचायें तो वो हमारे काफ़ी काम आ सकता है और गर्मियों में पानी की किल्लत से बचा सकता है| कार्यक्रम के अंत में अँग्रेजी सुलेख प्रतियोगिता का आयोजन कक्षा 1 से कक्षा 10 के विध्यार्थियों में सदनानुसार किया गया| पी0जी0टी0 इंग्लिश श्रीमती अनीता नेगी ने कहा कि सुलेख हमारे आंतरिक विचारों के प्रतिबिंब होते हैं। यदि हम अंदर से सशक्त होंगे, तो हमारे विचारों में उसका सौंदर्य झलकेगा । वहीं, सौंदर्य कलम से कागज पर सुलेख के रूप में उतरेगा, जिससे हमारे व्यक्तित्व की पहचान होगी।

dsc00613 dsc00616 dsc00617 dsc00618 dsc00619 dsc00621 dsc00622 dsc00623 dsc00685 dsc00684 dsc00683 dsc00686 dsc00687 dsc00688 dsc00691 dsc00690 dsc00689 dsc00670 dsc00662 dsc00659 dsc00664 dsc00671 dsc00672 dsc00673 dsc00676 dsc00675 dsc00674 dsc00677 dsc00678 dsc00679 dsc00682 dsc00681 dsc00680 dsc00692 dsc00693 dsc00694 dsc00697 dsc00696 dsc00695 dsc00698 dsc00699 dsc00700 dsc00703 dsc00702 dsc00701 dsc00704 dsc00705 dsc00706 dsc00709 dsc00708 dsc00707 dsc00710 dsc00711 dsc00712 dsc00715 dsc00714 dsc00713 dsc00716 dsc00717 dsc00718 dsc00719 dsc00720 dsc00721 dsc00724 dsc00723 dsc00722dsc00624 dsc00625 dsc00626 dsc00627 dsc00628 dsc00629 dsc00635 dsc00636 dsc00637 dsc00638 dsc00639

 

dsc00755 dsc00756 dsc00759 dsc00760 dsc00761 dsc00762 dsc00763 dsc00764 dsc00765 dsc00766 dsc00768 dsc00770 dsc00772 dsc00773 dsc00774 dsc00775 dsc00776 dsc00777 dsc00780 dsc00781 dsc00782 dsc00783 dsc00784 dsc00785 dsc00786 dsc00787 dsc00788 dsc00789 dsc00790 dsc00791 dsc00793 dsc00794

जिम्प पायनियर स्कूल में शहीद सैनिकों की विधवाओं को अंग वस्त्रम देकर सम्मानित किया गया

दिनांक 02-04-2017 को साँय 5 बजे जिम्प पायनियर स्कूल स्थान-पीतांबरपुर ,आर्केडिया-ग्रांट,देहरादून में देश की सेवा में शहीद सैनिकों की विधवाओं को अंग वस्त्रम देकर सम्मानित किया गया | इससे पूर्व जिम्प पायनियर स्कूल के छात्र-छात्राओं ने “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” कार्यक्रम प्रस्तुत किया | इस कार्यक्रम का उद्घाटन  मुख्य अतिथि  श्री गणेश जोशी माननीय विधायक मसूरी विधानसभा देहरादून व श्री सहदेव सिंह पुंडीर माननीय विधायक सहसपुर विधानसभा देहरादून  व विशिष्ट अतिथि मेजर एम एस सामंत अध्यक्ष पर्वतीय कल्याण समिति प्रेमनगर देहरादून व श्री महावीर सिंह राणा अध्यक्ष गौरव सेनानी पूर्व सैनिक संगठन देहरादून द्वारा किया गया |

जिम्प पायनियर स्कूल के कक्षा 11 के विद्यार्थियों पूजा बिष्ट ,पूजा नेगी,निकिता नौडियाल ,रितिका चमोली,रिया चंद, ने एक गीत  “पतवार बनूँगी लहरों से लड़ूँगी …………………………….. ”   पर नृत्य प्रस्तुत किया जिसे देखकर उपस्थित सभी ग्रामवासी काफी भावुक हो गए । इसमें बेटियों के जीवन की कई सच्चाइयों को नृत्य के माध्यम से मंच पर उजागर किया। इसमें दर्शाया गया कि अपनी बेटियाँ अपने  माता-पिता के लिए हर कुर्बानी देने को तैयार रहती है।  जिससे दर्शकों की आंखों में आंसू आ गए।

कार्यक्रम के अन्त में कक्षा 11 के छात्र-छात्राएं कृतिका जोशी ,मनस्वी सती,शादाब ,अर्चना चंडोला आँचल बिष्ट,ईशा थापा,हिमानी नेगी कक्षा 10 के छात्र-छात्राएं माया मेहरा ,राधिका महर,  व कक्षा 9  के  स्वाति, सलोनी कक्षा 5 के प्रियंका, साक्षी, सुमन ,विध्यार्थियों ने संयुक्त रूप से कन्या भ्रूण हत्या पर एक नाटक प्रस्तुत किया इस नाटक के माध्यम से बच्चों ने बताया कि समाज में  पढ़े लिखे लोग सबसे अधिक बेटी बचाओ व बेटी पड़ाओ के अभियान के बारे में  जागरूकता फैला सकते हैं   भारतीय नारी में करूणा, दया और ममत्व के गुण हैं। बेटियां हमारे देश की बहुत बड़ी ताकत है, वे राष्ट्र की पूंजी है। नाटक में पति-पत्नी व सरस्वती,दुर्गा,काली,लक्ष्मी माता का वार्तालाप दर्शकों की आंखों को नम कर देता है।

श्री गणेश जोशी माननीय विधायक मसूरी विधानसभा देहरादून ने कहा “ हमारे देश में कितनी ही समस्यायें क्यों न हों, लेकिन एक सच्चा सैनिक देश की बुराई कभी भी नहीं करता वह अपनी जान से भी ज्यादा देश को प्यार करता है। हमें अपने सैनिकों से देश के प्रति सम्मान और प्यार की सीख मिलती है। हमारे देश के चारों तरफ संकट की सीमायें बनी हुई है, और इन सीमाओं को सुरक्षित रखने में अहम योगदान हमारे वीर सैनिकों का है। हमारे देश के सैनिकों ने कभी भी किसी के सामने घुटने नहीं टेके।“

श्री सहदेव सिंह पुंडीर माननीय विधायक सहसपुर विधानसभा देहरादून ने कहा “सैनिक आजीवन देश के लिए समर्पित होता है इसलिए हम सभी को अपने जीवन में सैनिकों  के जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए |मनुष्य योनि में जन्म होना ही अपने आप में महानता है और मनुष्य योनि में जन्म लेने के बाद जो व्यक्ति देशवाशियों की रक्षा के लिए कार्य करता है वह सबसे महान व्यक्ति है |आज हम देश के सरहद पर अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों के परिजनों व वीर सैनिकों का सम्मान करके गौरवान्वित हैं|”

इस अवसर पर जिम्प पायनियर स्कूल के प्रधानाचार्य श्री जगदीश पांडे ने अपने विचारों में  कहा  ” हम सभी जब सुबह-शाम को अपने घर में पूजा करते हैं  उन शहीद सैनिकों के नाम का भी एक दीप प्रज्जवलित करें जिन्होंने अपनी कुर्बानी से देश को रौशन किया है। हमारी वतन के आन बान शान को बढ़ाने में जिन परिवारों ने अपने लालों  को खोया है उन परिवारों का मान करना हम सभी का दायित्व है। हम सभी  उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना ही प्रकट कर सकते हैं। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि ये सैनिक देश प्रेम की भावना से ओत प्रोत होकर राष्ट्र की रक्षा के लिए कटिबद्ध और प्रतिबद्ध हो हंसते-हंसते अपनी कुर्बानी दे देते हैं। वे जानते है कि देश की रक्षा एवं देशवासियों की सुरक्षा हमारा परम दायित्व है। इसी दायित्व के निर्वहन में हमारे सैनिक हंसते हंसते शहीद होते हैं। हमें इनका सम्मान हर हाल में करना चाहिए। “

विशिष्ट अतिथि मेजर एम एस सामंत अध्यक्ष पर्वतीय कल्याण समिति प्रेमनगर देहरादून  ने कहा “ हमारे देश में झांसी की रानी लक्ष्मी बाई , इंदिरा गांधी, कल्पना चावला, किरण बेदी,  बच्छेन्द्री पॉल, महादेवी वर्मा, ऐश्वर्या रॉय बच्चन, किरण शॉ मज़ुमदार, फातिमा बीबी, सानिया मिर्जा, सानिया नेहवाल, चंदा कोचर और लता मंगेशकर जैसी भारतीय समाज को गर्व से भर देने वाली महिलाओं ने जन्म लिया है फिर भी बेटियों से भेदभाव करने वाले लोग शायद  इस बात को भूल जाते हैं कि बेटियां भी अपने माता-पिता का नाम रोशन करती हैं और वक्त आने पर, खासकर बुढ़ापे में उनका सहारा भी बन सकती हैं, अगर बेटियां कम हो गईं तो वे अपने बेटों के लिए बहनें और बहुएं कहां से लाएंगे।“

कार्यक्रम साँय 7.00 बजे समाप्त हुआ |

सम्मान सहित

जगदीश पाण्डेय

फोन-08958575612

dsc00461 dsc00462 dsc00463 dsc00464dsc00465 dsc00467 dsc00468 dsc00469 dsc00470 dsc00471 dsc00472 dsc00473 dsc00474 dsc00475 dsc00476 dsc00477 dsc00478 dsc00479 dsc00480 dsc00481 dsc00482 dsc00483 dsc00484 dsc00485 dsc00486 dsc00487 dsc00488 dsc00489 dsc00490 dsc00491 dsc00492 dsc00493 dsc00494 dsc00496 dsc00497 dsc00498 dsc00499 dsc00500 dsc00501 dsc00502 dsc00503 dsc00504 dsc00505 dsc00506

dsc00507 dsc00508 dsc00509 dsc00510 dsc00511 dsc00512 dsc00513 dsc00514 dsc00515 dsc00516 dsc00517 dsc00518 dsc00519 dsc00520 dsc00521 dsc00522 dsc00523 dsc00524 dsc00525 dsc00526 dsc00527 dsc00528 dsc00529 dsc00530 dsc00531 dsc00532 dsc00533 dsc00534 dsc00535 dsc00536 dsc00537 dsc00538 dsc00539 dsc00540 dsc00541 dsc00542 dsc00543 dsc00544 dsc00545 dsc00546 dsc00547 dsc00548 dsc00549 dsc00550 dsc00551 dsc00552 dsc00553 dsc00554 dsc00555 dsc00565